कविता, कहानी, ग़ज़ल, गीत, पौराणिक, धार्मिक एवं अन्य विधाओं का मायाजाल

विज्ञापन

नव रचनाकार

क्या इस देश में एक ‘राम प्रसाद बिस्मिल नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी’ नहीं होनी चाहिए?

तब काकोरी कांड की सुनवाई कोर्ट में चल रही थी. राम प्रसाद बिस्मिल के ख़िलाफ़ सरकारी वकील थे जगतनारायण मुल्ला. साजिशन बिस्मिल को केस लड़ने…

देह की अनन्त यात्रा – डॉ. चित्रलेखा अंशु

ये जो काले रंग का कुर्ता है उसे कभी फेंकती नहीं मैं न तो किसी को देती हूँ। ये भी एक माध्यम है मेरी देह…

हम सिसक सिसक सो जाते है

तेरा मेरी गली से गुजरना, मेरी नजरों पे आके वो रुकना । उन यादों के दामन थामे, हम संभल-संभल रुक जाते हैं।। तेरी बातों पे…

भुलाना न आसान होगा

  दी खुशियां तूने जो मुझको, भुलाना न आसान होगा, मेरी हर कामयाबी पे, तेरा ही नाम होगा। रखूँगा तेरे हर तर्ज़ को, खुद में…

विज्ञापन